He Swar Ki Devi Maa

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

सरगम का ज्ञान नही,
ना लय का ठिकाना है,
तुम्हे आज सभा में माँ,
हमे दरश दिखाना है |
संगीत समंदर से सुरताल हमें दे दो ||

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

शक्ति ना भक्ति है,
सेवा का ज्ञान नही,
तुम्हे आज सुनाने को,
कोई सुन्दर गान नही |
गीतों के खजानो से,
एक गीत मुझे दे दो ||

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

अज्ञान ग्रसित होकर,
क्या गीत सुनाऊ में,
टूटे हुए शब्दो से,
क्या स्वर को सजाऊँ में |
तू ज्ञान का स्त्रोत बहा,
माँ मुझपे दया कर दो ||

हे स्वर की देवी मा वाणी में मधुरता दो,
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

https://youtu.be/us-pAkFSS7g

He Swar Ki Devi Maa Lyrics In English

he svar ki devi maan vaani mein madhurata do,
mein git sunaati hoon sangit ki shiksha do ||

saragam ka gyaan nahi,
na lay ka thikaana hai,
tumhe aaj sabha mein maan,
hame darash dikhaana hai |
sangit samandar se surataal hamen de do ||

he svar ki devi maan vaani mein madhurata do,
mein git sunaati hoon sangit ki shiksha do ||

shakti na bhakti hai,
seva ka gyaan nahi,
tumhe aaj sunaane ko,
koi sundar gaan nahi |
giton ke khajaano se,
ek git mujhe de do ||

he svar ki devi maan vaani mein madhurata do,
mein git sunaati hoon sangit ki shiksha do ||

agyaan grasit hokar,
kya git sunaoo mein,
toote hue shabdo se,
kya svar ko sajaoon mein |
too gyaan ka strot baha,
maan mujhape daya kar do ||

he svar ki devi ma vaani mein madhurata do,
he svar ki devi maan vaani mein madhurata do,
mein git sunaati hoon sangit ki shiksha do ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *