श्री कृष्ण भजन – यशोदा का नंदलाला

  • जूजू जूजू जू….

    यशोदा का नंदलाला,
    ब्रिज का उजाला है
    मेरे लाल से तो सारा,
    जग झिलमिलाये

    जूजू जूजू जू….

    यशोदा का नंदलाला,
    ब्रिज का उजाला है
    मेरे लाल से तो सारा,
    जग झिलमिलाये

    रात ठंडी ठंडी हवा गा के सुलाए
    भोर गुलाबी पलके झूम के जगाए

    यशोदा का नंदलाला,
    ब्रिज का उजाला है
    मेरे लाल से तो सारा,
    जग झिलमिलाये

    जूजू जूजू जू….

    सोते सोते गहरी नींद में
    मुन्ना क्यू मुस्काये
    पुछो मुझसे मैं जानू
    इसको क्या सपना आए
    जुग जुग से ये लाल है अपना
    हर पल देखे बस यही सपना

    जूजू जूजू जू….

    जब भी जनम ले मेरी गोद में आए
    मेरे लाल से तो सारा जग झिलमिलाये

    यशोदा का नंदलाला,
    ब्रिज का उजाला है
    मेरे लाल से तो सारा,
    जग झिलमिलाये

    जूजू जूजू जू….

    मेरी उंगली थाम के जब ये
    घर आँगन में डोले
    मेरे मन में सोई सोई
    ममता आँखे खोले
    चुपके चुपके मुझको देखे
    जैसे ये मेरे मन में झाँके

    जूजू जूजू जू….

    चेहरे से आँखे नहीं हटती हटाए
    मेरे लाल से तो सारा जग झिलमिलाये

    रात ठंडी ठंडी हवा, गा के सुलाए
    भोर गुलाबी पलके, झूम के जगाए

    यशोदा का नंदलाला,
    ब्रिज का उजाला है
    मेरे लाल से तो सारा,
    जग झिलमिलाये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *